जीवन के प्रेरणा स्त्रोत तब कहा जाता है. जब किसी के जीवन में कोई प्रेरणा किसी अछे व्यक्ति से मिलता है. जिससे वो अपने जीवन में परिवर्तन कर के प्रगति करता है

प्रेरणा स्त्रोत जीवन के तब कहा जाता है. जब किसी के जीवन में कोई प्रेरणा किसी अछे व्यक्ति से मिलता है.

प्रेरणा स्त्रोत जिससे वो अपने जीवन में परिवर्तन कर के प्रगति करता है.

जिनके ज्ञान से अपने जीवन को लाभान्वित करता है.

कल्पना का प्रभाव ऐसा होता है की जिसके जीवन किसी के मिल जय तो ख़ुशी और प्रसन्नता जीवन में भर जाता है.

जिनके जीवन में ख़ुशी और प्रसन्नता जीवन में स्थापित हो गया.

समझ लीजिये उनका जीवन सफल है. किसी का जीवन में बहुत कुछ लाता है.

प्रेरणा स्त्रोत विज्ञान के विषय में सुरु में जिन विज्ञानिको ने जो आविस्कर किया.

उससे प्रेरणा लेकर उनके बाद आने वाले विज्ञानिको ने दिन प्रति दिन आविस्कारो को बढ़ाते हुए आज हम सब के लिए जीवन सुलभ कर दिया है.

यदि आज के समय में हम लोग किसी भी क्षेत्र में कुछ करना कहते है.

तो सभी कही न कही विज्ञान के ही देन है.

इसलिए हमलोगों के लिए सबसे बड़ा विज्ञान ही है.

भले लोग इस बात को माने या न माने.

चाहे दुनिया के किसी भी क्षेत्र में जा कर देखे.

सब जगह विज्ञान के ही आविस्कर है.

जो दुनियाभर के विज्ञानिको ने ही किया है.

आज के समय में तो सबसे बड़ा प्रेरणा के स्त्रोत वैज्ञानिक ही है.

अविष्कारक ही सृष्टि के जननी होते है. जिस तरह कोई व्यक्ति सिर्फ ज्ञान से पूरा सफलता नहीं प्राप्त कर सकता है.

जब तक की अच्छा अनुभव नहीं प्राप्त हो अनुभव ही ज्ञान का विस्तार करता है. नए सृजन का निर्माण करता है. ज्ञान का अनुभव भी होते है. सिर्फ अपने लिए ही नहीं अपितु अपने ज्ञान का अनुभव दूसरो के लिए भी बनता है. जो दुनियाभर के विज्ञानिको ने ही किया है आज के समय में तो सबसे बड़ा प्रेरणा के स्त्रोत वैज्ञानिक ही है. किसी के जीवन में बहुत कुछ लाता है.

प्रेरणा स्त्रोत
प्रेरणा स्त्रोत

Leave a Reply